भारतीय वायु सेना में करियर कैसे बनाये

2
views

भारतीय वायु सेना भारतीय सशस्त्र बलों की वायु बाँह हे, भारतीय वायु सेना विश्व में चौथे स्थान पर हे इसका प्राथमिक मिशन हवाई क्षेत्र को सुरक्षित रखना एवं सशस्त्र संघर्ष के दौरान क्षैत्रीय युद्ध का आयोजन करना हे,इसकी स्थापना 8 अक्टूबर 1932 में हुई|

वायु सेना आपको सबसे आधुनिक सुविधाएं एवं जीवन जीने के अद्वितीय तरीके प्रदान करती हे और एक ऐसा वातावरण प्रदान करती हे जहा आप अपने सारे गुणों का उपयोग पूर्ण रूप से उपयोग कर पाते हे |

भारतीय वायु सेना में प्रवेश लेने के तरीके बारहवीं के बाद एनडीऐ(नेशनल डिफेन्स अकादमी ) उन छात्रों के लिए सुनहरा अवसर हे जिन्होंने भौतिकी और गणित के साथ 10+2(विज्ञानं वर्ग ) योग्यता प्राप्त की हो ,इस परीक्षा से वे भारतीय वायु सेना में अफसर पद के लिए आवेदन कर सकते हे ,एनडीऐ का आयोजन युपिएसई वर्ष में दो बार भारत के मुख्य शहरो में करवाती हे |

ग्रेजुएशन के बाद ग्रेजुएशन के बाद छात्र /छात्राओं के लिए भारतीय वायु सेना में प्रवेश के लिए बहुत साऱी लिखित परीक्षा एवं डायरेक्ट एंट्री जैसे तरीके उपलब्ध हे| एन सी सी (डायरेक्ट एंट्री ) अगर आप एनसीसी के छात्र /छात्रा कैडेट हे तो आप इसके (.एनसीसी एंट्री) लिए आवेदन कर सकते हे, आपकी आयु 19-25 वर्ष के बिच हो एवं शैक्षणिक योग्यता किसी भी वर्ग में डिग्री 50% के साथ जरुरी हे |

जग एंट्री : ये मुख्य रूप से विधि स्नातक (लो ग्रेजुएट ) विद्यार्थियों के लिए हे, आपकी आयु 21-27 वर्ष के बिच हो एवं शैक्षणिक योग्यता एलएलबी डिग्री 50% एग्रीगेट के साथ | सीडीएस एंट्री : कंबाइंड डिफेन्स सर्विसेज(सीडीएस) एग्जामिनेशन वर्ष में 2 बार इसका आयोजन युपिएसई द्वारा सेना भर्ती के लिए करवाई जाती हे| इंडियन मिलिट्री अकादमी (आई एम् ऐ ), ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी (औ टी ऐ ), इंडियन नवल अकादमी (आई एन ऐ )and इंडियन एयर फाॅर्स अकादमी (ऐफऐ) लड़किया केवल ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी (औ टी ऐ ) के लिए आवेदन कर सकती हे |

ऐफकैट एंट्री: भारतीय वायु सेना द्वारा एयर फाॅर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (ऐफकैट) का आयोजन भारतीय महिलाओ एवं पुरुष के लिए वर्ष में दो बार करवाया जाता हे ( फरवरी और सितम्बर )|

ऐफकैट में 3 प्रोग्राम में आवेदन कर सकते हे –

  • फ्लाइंग ब्रांच : फाइटर पायलट्स , ट्रांसपोर्ट पायलट्स , हेलीकाप्टर पायलट्स -आप इनमे से किसी भी    प्रकार के पायलट्स में युद्ध एवं शांति के समय काम कर सकते हे फ्लाइंग ब्रांच के लिए आप जीवन में  सिर्फ एक बार आवेदन कर सकते हे |
  • टेक्निकल ब्रांच : मैकेनिकल , इलेक्ट्रॉनिक्स ,कंप्यूटर साइंस – इसमें इंजीनियरिंग के छात्र /छात्रा जो फाइनल ईयर में हे या डिग्री ले चुके हे दोनों आवेदन कर सकते हे|
  • ग्राउंड ड्यूटी ब्रांच : एडमिनिस्ट्रेशन , एकाउंट्स , लोजिस्टिक्स , एजुकेशन ,मीटरोलॉजी ग्राउंड ड्यूटी के  लिए नॉन -टेक्निकल विद्यार्थियों के लिए एक अच्छा अवसर हे|

ज्यादा जानकारी के लिए आप भारतीय वायु सेना की ओरिजिनल साइट पर जाके  जानकारी प्राप्त कर सकते हे|

Like this article? Or have something to share? Write to us: hibhilwara.com@gmail.com, or connect with us on Facebook and Twitter (@HiBhilwara)